क्या आपको मालूम थे मासिक बिलों पर पैसा बचाने के यह अनोखे तरीके


पैसों की बचत की जब भी बात आती है तो सबसे ज्यादा कठिन होता है अपने दैनिक या मासिक बिलों से कुछ बचा पाना। अब यह खर्चे ऐसे होते हैं जो जीवन जीने के लिए जरूरी हैं, इनमें आखिर हम कैसे कटौती करें? दूध दही या राशन, बिजली बिल यहां बचत करने के चक्कर में कई लोग खुद को कंजूस समझने लगते हैं। और उनका ऐसा सोचना गलत भी नहीं है। पर कुछेक छोटी छोटी बाते हैं जिनको ध्यान में रखकर हम जरूर कुछ ना कुछ तो बचा ही सकते हैं।

तो देर किस बात की है, आइयें जानते हैं कि आप अपने मंथली बिलों पर किस तरह से बचत कर सकते हैं और यकीन मानिए यह बातें आपको और कहीं एक ही जगह पर मिलना बहुत मुश्किल है।  

मासिक बिलों पर पैसे बचाने के लिए सरप्राइसिंग हैक्स (Surprising Hacks To Save Money On Monthly Bills)

1. डिस्कांउट लेना ना भूलें

राशन की दुकान हो, बिग बाजार, रिलायंस मार्ट या पास की मदर डेयरी से आप सामान लें, शॉपिंग आप चाहे जहां से भी करें हमेशा पूछना ना भूलें कि क्या इसपर कोई डिस्काउंट है या नहीं? याद रखिएं कि हर चीज पर आपको कुछ ना कुछ पैसों की बचत हो सकती है। एमआरपी का मतलब अधिकतम खुदरा मूल्य है, अमूमन स्टोर्स और दुकान पर सामान कम कीमत में आता है जिसमें कुछ मार्जिन दुकानदार का होता है जिसे वह डिस्काउंट की तरह आपको दे सकता है।

2. मासिक यातायात पर पैसा बचाएं

अगर आपकी खुद की गाड़ी है तो मंथली पेट्रोल या डीजल पर पैसों की बचत के लिए आप कार्ड पॉइंट्स या कैशबैक इस्तेमाल कीजिएं। कैबस बुक करते हुए भी अगर कोई कूपन इस्तेमाल कर सकते हैं तो कीजिए। और सबसे जरूरी अगर आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं तो कीजिएं, यह पैसा भी बचाएगा और पर्यावरण भी।

3. खर्चों को मोनिटर करने के लिए ऐप का प्रयोग

क्या आपको लगता है कि आप स्मॉक या बियर या ऑनलाइन फूड में ज्यादा पैसे खर्च कर देते हैं जो आपके मंथली ग्रोसरी बिल को बढ़ा देता है? अगर हां तो आपको जरूरत है एक ऑनलाइन मोबाइल एक्सपेंस मॉनिटर की जो आपके खर्चों का ध्यान रखेगा। यहां आप लिमिट सेट कर सकते हैं जिससे अगर पैसे ज्यादा खर्च हो रहे हों तो आप उन्हें सेव कर सकें।

Earn Instant Cash upto Rs. 1000 - Download Wizely today!

4. पहले उधारी चुकाएं, फिर खर्च करें

अपनी ईमआई और क्रेडिट कार्ड्स के बिल को भूलकर भी देर से जमा ना करें। इन बिलों को समय पर भुगतान करें ताकि सिबिल स्कोर सही रहे और आपको अतिरिक्त पेनेल्टी ना देनी पड़े।

5. बिजली की बचत

अक्सर हम घर के काम में इतने व्यस्त हो जाते हैं की ऐसे उपकरणों जिनकी उस समय कोई आवश्यकता नहीं है और वे चालू हैं उन्हें बंद करना भूल जाते हैं , जैसे दिन में लाइट ऑन छोड़ देना ,खली कमरे का पंखा ऑन रह जाना, या मोबाइल में व्यस्त होते हुए टीवी को ऑन छोड़ देना अदि। आप इन छोटी -छोटी बातों का ध्यान रखके अपने बिजली बिल में काफी हद तक कमी कर सकते हैं।

इसलिए ऐसा कोई भी बिजली से चलने वाला उपकरण जिस की उस समय कोई वश्यकता नहीं है उसे तुरंत बंद कर दें। इसी के साथ साथ अगर घर में पुराने बल्ब लगे हुए हैं जो की अधिक बिजली कंज्यूम करते है तो उनकी जगह नए प्रकार के काम बिजली कंज्यूम करने वाले एलईडी बल्ब लगा सकते हैं।

Read more: Why Can't I Stop Wasting Money on Unnecessary Subscriptions

6. पानी का बिल

कुछ लोग पानी की बहुत बर्बादी करते जिसे किसी भी लिहाज से सही नहीं ठहराया जा सकता , जहाँ एक तरफ वे जरुरत से ज्यादा पानी इस्तेमाल करते हैं वहीँ दूसरी तरफ वे अपने पैसों का भी नुक्सान कर रहे होते हैं , जैसे जो काम एक बाल्टी पानी से भी हो सकता है वहां नल का इस्तेमाल करना और पानी न इस्तेमाल करते वक़्त भी नल खुला छोड़ देना एक बड़ी गलतियां है जिस पर अधिकतर लोग ध्यान ही नहीं देते।

इसलिए गाडी धोते वक़्त हमेशा बाल्टी का इस्तेमाल करें न की सीधे नल का , इसी तरह अन्य काम करते वक़्त भी जब पानी की जरुरत हो तभी नल खोलें और जरुरत न होने पर तुरंत नल बंद करें। इन छोटी- छोटी बातों को अपना कर भी आप अपने पानी के बिल में से काफी पैसे बचा सकते हैं।

7. टेलीफोन का बिल

वैसे तो आजकल सभी के पास प्रीपेड अनलिमिटेड कनेक्शन वाले फोन होते हैं। इसमें भी आप सही स्कीम को चुनकर पैसे बचा सकते हैं। अगर आप अधिक डेटा इस्तेमाल करते हैं तो ही हाईऐंड वाले ट्रैरिफ प्लान लें। अगर पोस्टपेड कनेक्शन है तो अपनी कॉलिंग के साथ बिल का ख्याल रखें।

8. क्रेडिट कार्ड बिल

क्रेडिट कार्ड एक ऐसा साधन हैं जो कई बार हम से गैर जरूरी खरीदारी करवा ही देता है। इसके दो कारण हैं पहला:

स्पेशल ऑफर स्कीम (Special Offer) यह एक ऐसा शब्द है जो किसी को भी आसानी से लालच में डाल देता हैं अब चाहे वह वस्तु हमारे लिए गैरजरूरी ही क्यों न हो , इसलिए खरीदारी करते वक़्त इस बाद का विशेष ध्यान रखें की सिर्फ आवश्यक वास्तु की खरीदारी करें।

दूसरा कारण - हम खरीदारी के ऑफर के चक्कर में यह सोचते हैं की यह ऑफर कहीं निकल न जाये और वैसे भी कौन सा हमें अभी भुगतान (Pay ) करना है इसलिए गैरजरूरी वास्तु भी बिना ज्यादा सोचे खरीद लेते हैं चाहे बाद में उसका उपयोग हो या न हो , इसलिए क्रेडिट कार्ड से पाय करते वक़्त  यह जरूर याद रखें की अंत में इसका पैसा भी आपकी जेब से ही जाना हैं।

9. कैशबैक ऑफर (Cashback Offer)

आप अपने बिल का सीधे भुगतान (Pay) करने की वजाय किसी एप्लीकेशन या (portal )के माध्यम से भुगतान करें जिसमे कोई कैशबैक ऑफर चल रहा हो , इससे आप कम ही सही मगर कुछ पैसा तो जरूर बचा सकतें हैं।

इसी क्रम में हम अपने सेव किए गए रुपयों को कहीं ना कहीं इन्वेस्ट कर देते हैं जिससे हमें हमारे पैसों के साथ साथ कुछ रिटर्न भी प्राप्त हो सके और हम अपने लक्ष्य की ओर आगे से बढ़ सकें ।

आप छोटी-छोटी सेविंग करके एक बड़े लक्ष्य की और आगे बढ़ सकतें हैं जैसे की अगर आप दिन के मात्र ₹30 भी सेव कर सकते हैं जो कि आप आसानी से कर सकते हैं जैसे कि बाहर चाय ना पीकर या सिगरेट ना पीकर। इस प्रकार आप 1 महीने के ₹1,000 सेव कर सकते हैं। अगर यह ₹1,000 आप SIP के माध्यम से हर महीने निवेश करते हैं तो लगभग 30 वर्ष में यह पैसे 60 लाख बन जायेंगे। मेरी राय में यह राशि आपको मनी सेविंग करने के लिए प्रेरित करने के लिए काफी है।

दूसरी जरुरी बात की हमने हमेशा यह महसूस किया होगा की हमारी आय एक एक बड़ा हिस्सा सिर्फ हमारे मासिक बिलों के भुगतान में ही चला जाता है।

अगर हम गौर करें तो पाएंगे की हमरे मासिक बिलों में कुछ खर्च ऐसे भी होते हैं जिन्हे हम काम करके अपने बिल में कमी ला सकते थे और अपने बिल से ही कुछ पैसे अधिक बचा सकते थे। इन उपायों को अपना कर आप अपने मासिक बिल में से अच्छा खासा पैसा बचा कर सेविंग कर सकते हैं।

(Check out 'Learn & Grow with Wizely' 'to read and learn all about personal finance and financial planning.)

Umesh Verma

Umesh Verma